ओमिक्रॉन | चिंताजनक वैरिएंट नया कोविड वैरिएंट

ओमिक्रॉन क्या है
ओमिक्रॉन कोविड का एक नया रूप है, जिसे सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में खोजा गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूसचओ) द्वारा बी.1.1.529 के रूप में पहचाने जाने वाले नए वैरिएंट को ‘चिंताजनक वैरिएंट घोषित किया गया है और इसे ओमिक्रॉन नाम दिया गया है।

ओमिक्रॉन को चिंताजनक वैरिएंट क्यों माना जा रहा है?

तकनीकी टर्म बी.1.1.529 से जाना जाने वाला ओमिक्रॉन दर्शाता है कि वैरिएंट में बड़ी संख्या में म्यूटेशन्स हैं, जिनमें से कुछ में चिंताजनक लक्षण हैं। सरल शब्दों में, यह अधिक आसानी से फैल सकता है और ज्यादा गंभीर बीमारियों का कारण बन सकता है।


ओमिक्रॉन की म्यूटेशन काउंट क्या है ?

ओमिक्रॉन में कुल मिलाकर 50 म्यूटेशन्स हैं, जिसमें अकेले “स्पाइक प्रोटीन” पर 30 से अधिक म्यूटेशन्स शामिल हैं। भारी म्यूटेशन्स वायरस को वैक्सीन के प्रति अधिक प्रतिरोधी बना सकते हैं, फैलने की क्षमता बढ़ा सकते हैं और अधिक गंभीर लक्षण पैदा कर सकते हैं।


स्पाइक प्रोटीन: यह वायरस का वह हिस्सा है, जो मानव कोशिकाओं से जुड़ता है, जिससे इसे प्रवेश मिलता है।

किन देशों में ओमिक्रॉन (कोरोना का नया वैरिएंट) पाया गया?

जिन देशों में नए कोविड वैरिएंट के मामले दर्ज किए हैं, वे हैं ऑस्ट्रेलिया, इटली, जर्मनी, नीदरलैंड, ब्रिटेन, इजराइल, हांगकांग, बोत्सवाना और बेल्जियम


ओमिक्रॉन कैसे उभरा?

यह बिल्कुल स्पष्ट नहीं है कि यह संस्करण कैसे उभरा। म्यूटेशन के असामान्य लक्षणों ने स्ट्रेन के तेजी से फैलने के बारे में आशंकाएं बढ़ा दी हैं। थोड़े ही समय में, यह दक्षिण अफ्रीका में नए संक्रमणों के बीच एक प्रमुख स्ट्रेन बन गया है।

ओमक्रॉन के खिलाफ टीके का क्या प्रभाव होगा?

इस नतीजे तक पहुंचने के लिए बहुत कम रिसर्च हुआ है, विशेषज्ञों ने सावधानी बरतने का आग्रह किया है, लेकिन घबराने का नहीं। तमाम तरह की अटकलें हैं, लेकिन ओमिक्रॉन के खिलाफ टीकों के प्रभाव के बारे में कोई पुष्ट रिपोर्ट नहीं है।

म्यूटेशन की अधिक संख्या के कारण ओमिक्रॉन सबसे अधिक चिंताजनक प्रकार है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top