Dussehra के बारे में अनजाने तथ्य

 Dussehra Sanskrit के शब्द दशहरा से लिया गया है, जिसका मतलब दस बुराइयों की हार है। इसे दस बुराइयों पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाया जाता है।

हिंदू धर्म की कुछ उपसंस्कृतियों में, दशहरा को विजय दशमी भी कहा जाता है, जिसका अर्थ है दसवें दिन विजय।

भारत में मैसूर का दशहरा सबसे प्रसिद्ध हैं।

कहा जाता है कि दशहरे का पहला भव्य उत्सव 17 वीं शताब्दी में मैसूर पैलेस में तत्कालीन राजा वोडेयार के आदेश पर हुआ था।

तमिलनाडु में दशहरे के उत्सव को गोलू कहा जाता है।

उत्तर भारत में नवरात्रि के पहले दिन मिट्टी के बर्तन में जो के बीज बोने की परंपरा है। दशहरे के दिन अंकुरित जो किस्मत के प्रतीक के रूप में उपयोग किए जाते हैं।

दशहरे पर मॉनसून सीजन की समाप्ति और ठंड के मौसम की शुरुआत होती हैं। दशहरे के बाद किसान खरीफ की फसल काटते हैं और दिवाली के बाद रबी की फसल लगाते हैं।

भारत में बौद्धों के लिए भी दशहरा महत्वपूर्ण हैं। प्रसिद्ध सम्राट अशोक ने इसी दिन बौद्ध धर्म अपनाया था।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top